तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं? | Tatsam Shabd kise kahate hain in Hindi

नमस्कार दोस्तों, हमारा आज का आर्टिकल हिंदी व्याकरण का एक और महत्वपूर्ण अध्याय Tatsam Shabd kise kahate hain से सम्बन्धित है जहां हमने उदाहरण सहित तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं?, तत्सम और तद्भव की परिभाषा, तद्भव और तत्सम शब्द क्या होते हैं? What is Tatsam and Tadbhav in Hindi के बारे में बताया है।

तत्सम और तद्भव शब्द के उदाहरण से संबंधित 1 से 2 question हमेशा schools के exams व competition exams में पूछे जाते हैं। इसी को ध्यान में रखते हुए हमारा आज का आर्टिकल तत्सम और तद्भव है।

Table of Contents

तद्भव और तत्सम शब्द क्या होते हैं? | तद्भव और तत्सम शब्द किसे कहते हैं? | तत्सम और तद्भव की परिभाषा

आमतौर पर छात्र तद्भव और तत्सम शब्दों को लेकर बहुत ज्यादा परेशान रहते हैं। छात्र इनके शब्दों के बीच पहचान नहीं कर पाते हैं। ऐसे में हम यहां बिल्कुल सरल भाषा में छात्रों को तद्भव और तत्सम शब्दों की पहचान करना सिखाएंगे। हम छात्रों को तद्भव और तत्सम को अलग-अलग परिभाषा देकर उन्हें उदाहरण के जरिए समझाने का प्रयत्न करेंगे।

Tatsam Shabd kise kahate hain in Hindi

तत्सम शब्द किसे कहते हैं? | तत्सम शब्द क्या होते हैं? | Tatsam Shabd Kise Kahate Hain

तत्सम शब्द संस्कृत भाषा के दो प्रमुख उपशब्दों तत् और सम् शब्द से मिलकर बना हुआ है, जहां तत् शब्द का अर्थ है ‘उसके’ और सम शब्द का अर्थ है ‘समान’ या किसी शब्द को ज्यों का त्यों प्रयुक्त करना।

इस प्रकार जिन संस्कृत शब्दों को हिंदी भाषा में बिना किसी परिवर्तन के ज्यों का त्यों लिया गया है, उन्हें तत्सम शब्द कहा जाता है।

इन शब्दों में ध्वनि परिवर्तन नहीं होता। संस्कृत भाषा से ऐसे कई सारे शब्द हैं जो ना केवल हिंदी में बल्कि बंगाली, गुजराती, मराठी, पंजाबी, तेलुगु, कन्नड़, कोंकणी, मलयालम तथा सिंगल भाषा में भी बिना किसी परिवर्तन के लिए गए हैं, क्योंकि यह सभी भाषाएं संस्कृत भाषा से जन्मी है। जैसे – क्षेत्र, अज्ञान, अग्नि, अंधकार, अमूल्य, चंद्र आदि।

तत्सम शब्द की परिभाषा

ऐसे शब्द जिनका युग युगांतर से रूप परिवर्तित नहीं हुआ और आज भी वह शब्द उसी रूप में इस्तेमाल किए जाते हैं। तत्सम शब्द कहलाते हैं। जैसे – अम्बा, अग्नि, अक्षी , आम्र, अन्न, अंगुष्ठ, आश्चर्य, अंधकार आदि।

तद्भव शब्द किसे कहते हैं | तद्भव शब्द क्या हैं? | Tadbhav Shabd Kise Kahate Hain


तद्भव शब्द दो शब्दों तद और भव से मिलकर बना हुआ है। जहां तत् शब्द का अर्थ है ‘उससे’ और भव शब्द का अर्थ होता है ‘उत्पन्न’

इस प्रकार तद्भव शब्द का शाब्दिक अर्थ होता है, किसी अन्य प्राचीन शब्द से उत्पन्न हुआ शब्द।

तद्भव शब्द संस्कृत विकास से उत्पन्न होने वाला शब्द है। समय के साथ संस्कृत भाषा के शब्दों में धीरे-धीरे परिवर्तन आता गया और संस्कृत भाषा के नए-नए शब्द प्रचलित होने लगे। तद्भव शब्द संस्कृत भाषा की ओर संकेत करता है।

इन शब्दों के ध्वनि में कुछ विशेष परिवर्तन नहीं होता, परंतु इन शब्दों की लेखनी बदल जाती है, ऐसे शब्द तद्भव शब्द कहलाते हैं। जैसे – आधा, अनजान , आसिस, अच्छर, अंगुली, उल्लू आदि।

तद्भव शब्द की परिभाषा

ऐसे शब्द जो बने तो संस्कृत से ही हैं, किंतु इनकी यात्रा अन्य भाषाओं से होकर गुजरी है, जिनके कारण इनमें आज परिवर्तन गया है। अर्थात ऐसे शब्द जिन्हें संस्कृत भाषा से उठाकर किसी अन्य भाषा में प्रयुक्त कर लिया जाता है। तद्भव शब्द कहलाते हैं। जैसे – गाय, पंछी, दही, भाई, उल्लू, किरपा, कुम्हार, करम , केला आदि।

तत्सम और तद्भव शब्दों को कैसे पहचाने | तत्सम और तद्भव शब्द में अंतर | तत्सम और तद्भव शब्दों की पहचान के नियम | तत्सम तद्भव की ट्रिक

अक्सर छात्र तत्सम और तद्भव शब्दों को पहचानने में गलती कर बैठते हैं। यह गलती आपसे भी ना हो इसलिए, हम आज आपको इन शब्दों को पहचानने के नियम भी बताने जा रहे हैं –

1. तत्सम शब्दों के पीछे ” क्ष ” वर्ण का प्रयोग होता है।
तद्भव शब्दों में ” ख या छ “ का प्रयोग हो जाता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
पक्षीपंछी

2. तत्सम शब्दों में ” श्र ” का प्रयोग है।
तद्भव शब्दों में ” स ” का प्रयोग किया जाता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
धनश्रेष्ठीधन्नासेठी

3. तत्सम के शब्दों में ” श ” का प्रयोग है।
तद्भव के शब्दों में ” स ” का प्रयोग हो जाता है।

तत्सम शब्द  तद्भव शब्द
दीपशालकादियासलाई

4. तत्सम के शब्दों में ” ष ” वर्ण का प्रयोग होता है।
तद्भव के शब्दों में ” स ” वर्ण का प्रयोग नजर आता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
कृषककिसान

5. तत्सम के शब्दों में अधिकांश ” ऋ ” की मात्रा का प्रयोग होता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
कृतगृहकचहरी

6. तत्सम के शब्दों में ” र ” की मात्रा का भी बहुत प्रयोग किया जाता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
आम्रआम

7. तत्सम शब्दों में ” व ” का प्रयोग होता है।
तद्भव शब्दों में ” ब ” का प्रयोग हो जाता है।

तत्सम शब्द तद्भव शब्द
वनबन

तत्सम और तद्भव शब्द list | तद्भव शब्द कौन कौन से हैं? | तत्सम और तद्भव शब्द के उदहारण

तत्सम तद्भव
अकार्यअकाज
अच्छर/अक्षरआखर
अक्षिआँख
अज्ञानअजान
अद्यआज
अन्नअनाज
अमावस्याअमावस
अमिय/अमृत अमीय
अवगुणऔगुण
अर्कआक/अरक
अश्रुआँसू
आम्रआम
आखेटअहेर
आम्रचूर्णअमचूर
आश्विनआसोज
इष्टिका ईंट
उत्साहउछाह
उलूकउल्लू
उष्ट्रऊँट
उपरिऊपर
एकत्रइकट्ठा
अंगुलि अँगुरी
कंकणकंगन
कर्त्तव्य करतव
कपाटकिवाड़
कर्पूरकपूर
कण्टककाँटा
काँस्यकारकसेरा
काककाग / कौवा
कासखाँसी
कीर्तिकीरति
कुम्भकार कुम्हार
कुपुत्रकपूत
कोकिलकोयल
किसानकृषक
अग्रवर्ती अगाड़ी
अग्निआग
अच्युतअचूक
अगम्यअगम
अन्धकार अँधेरा
अट्टालिकाअटारी
अमूल्यअमोल
अम्लिकाइमली
अष्ट आठ
अर्द्धआधा
अग्रणीअगाड़ी
आमलकआँवला
आलस्य आलस
आश्चर्यअचरज
आश्रयआसरा
इर्ष्याइर्षा
उज्ज्वलउजला
उनउबटन
अलूखल ओखली
उच्छवासउसास
ओष्ठ ओठ
अंचलआँचल
कर्मकाम
कल्लोलकलोल
कदलीकेला
कज्जलकाजल
कपोतकबूतर
काष्ठकाठ
कार्तिककातिक
किरण कुमार
कुंअरकुक्षि
कोखक्रूर
कोणकोना
गर्दभगधा
अक्षतअच्छत
अक्षयआखा
अग्र आगे
अज्ञानीअनजाना
अन्धअँधेरा
अन्यत्रअनत
अनार्यअनाड़ी
अर्पणअरपन
अष्टादशअठारह
अवतारऔतार
अगणित अनगिनत
आभीरअहीर
आदित्यवारइतवार
आशीष असीस
इक्षुईख
ईप्साइच्छा
उपालम्भउलाहना
उच्चऊँचा
उपाध्याय ओझा
एलाइलायची
अंकऑक
अंगुष्ठअंगूठा
कटुकड़वा
कपर्टकपड़ा
कपर्दिकाकौड़ी
कर्णकान
कर्तरी कैंची
कार्यकाज
कांचन कंचन
किंचितकछु
कुक्करकुत्ता
कुष्ठकोढ़
कन्दुकगेंद
कृष्णकिसन/कान्ह
गर्त गड्ढ़ा

आज आपने क्या सीखा?

हमारा आज का आर्टिकल तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं? Tatsam Shabd kise kahate hain (tadbhav) से संबंधित था।

जहां हमने उदाहरण सहित तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं? Tatsam Shabd kise kahate hain (tadbhav kise kahate hain), तत्सम और तद्भव की परिभाषा, तद्भव और तत्सम शब्द क्या होते हैं? What is Tatsam aur Tadbhav in Hindi के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी है।

हमें उम्मीद है कि हमारा आज का आर्टिकल तत्सम और तद्भव शब्द किसे कहते हैं?, Tatsam aur Tadbhav Shabd kise kahate hain in Hindi आपके लिए उपयोगी साबित होगा। यदि हमारे आर्टिकल से आपको लाभ हुआ हो तो इसे सोशल नेटवर्किंग साइट्स पर जरूर शेयर करें। ताकि अन्य लोग भी इसका लाभ उठा सकें। धन्यवाद!

यह भी पढ़े

तत्सम और तद्भव से अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न | Tatsam aur Tadbhav FAQ

तत्सम और तद्भव शब्द में क्या अंतर है?

तत्सम और तद्भव शब्द में अंतर आप इस प्रकार से समझ सकते हैं__तत्सम शब्द शब्द वे शब्द होते हैं, जो संस्कृत भाषा से हिंदी में लिये जाते हैं। जबकि तद्भव शब्द वे शब्द होते हैं, जो संस्कृत भाषा से तो आते हैं, लेकिन वे शब्द हिंदी में जाकर बदल जाते हैं। हिंदी में संस्कृत भाषा के शब्दों के परिवर्तित रूप को ‘तद्भव’ कहा जाता है।

दो का तत्सम शब्द क्या है?

दो का तत्सम शब्द द्वौ होता है।

तत्सम तद्भव शब्द क्या है उदाहरण सहित लिखिए?

तत्सम शब्द – संस्कृत भाषा के वे शब्द जो हिंदी भाषा में ज्यों के त्यों ले लिए गए है, तत्सम शब्द कहलाते हैं। जैसे – अग्नि, अमूल्य, अज्ञान, कर्पूर, हिंदी, बांग्ला, मराठी, गुजराती , पंजाबी , तेलगु , कन्नड़ , मलयालम आदि।
तद्भव शब्द – संस्कृत भाषा के वे शब्द जो कुछ परिवर्तन के साथ हिंदी शब्दावली में आ गए हैं, तद्भव शब्द कहलाते हैं। जैसे:- अकाज, कचौड़ी, काजल, चाम, चमड़ा, चितेरा, कौड़ी, गहरा आदि।

खेलना का तत्सम क्या होगा?

खेल का तत्सम शब्द खेला होता है।

काके का तत्सम शब्द क्या है?

काग / कौआ शब्द का तत्सम रूप काक है।

Tadbhav शब्द क्या होते हैं?

Tadbhav शब्द, तत्सम शब्दों के बदले हुए रूप को कहा जाता है।

कबूतर शब्द का सही तत्सम शब्द ____ *?

कबूतर शब्द का तत्सम रूप कपोत है।

Leave a Comment