Police full form in Hindi (Public Officer for legal investigations and criminal emergencies)

Police ऑफिसर समाज या राष्ट्र में कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए पूरी तरह से जिम्मेदार होते हैं। अगर आप भी Police बनना चाहते हैं तो और आप यह समझ नहीं पा रहे हैं कि Police बनने के लिए आपको किन किन बातों की जानकारी होनी आवश्यक है तो आपको परेशान होने की बिल्कुल भी जरूरत नहीं है। हमारा आज का आर्टिकल Police full form in Hindi (Public Officer for legal investigations and criminal emergencies) आपकी इस दुविधा को पूरी तरह दूर कर देगा।

आज के आर्टिकल में हम आपको Police full form, Police कैसे बने, Police बनने के लिए कितनी साल उम्र होनी चाहिए, Police परीक्षा प्रक्रिया, Police बनने की शारीरिक दक्षता, Police officer का क्या काम होता है आदि के बारे में विस्तार से जानकारी देंगे।

पुलिस फुल फॉर्म क्या है ?

आपकी जानकारी के लिए बता दें, पुलिस के दो फुल फॉर्म आपकों internet पर मिल जाएंगे। यहां आपकों दोनों फुल फॉर्म के बताएं हैं –

1. Police Full Form in English

P – Public

O – Officer

L – Legal

I – Investigations

C – Criminal

E – Emergencies

इस तरह Police का फुल फॉर्म Public Officer for Legal Investigations and Criminal Emergencies है।

Police full form in Hindi

Police (Public Officer for legal investigations and criminal emergencies) full form हिंदी में कानूनी जांच और आपराधिक आपात स्थिति के लिए सार्वजनिक अधिकारी होता है।

2. Police Full Form in English

P – Protection

O – Of

L – Life

I – in

C – Civil

E – Establishment 

Police full form in Hindi

Police full form हिंदी में नागरिक प्रतिष्ठान में जीवन की सुरक्षा होता है।

Police क्या है?

पुलिस एक वर्दीधारी व्यक्ति होता है, जो कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होता है, ताकि देश के नागरिकों के हितों की रक्षा की जा सके और दोषियों को दंडित किया जा सके। पुलिस का काम जनता की सुरक्षा एवं उनकी सेवा करना होता है।

भारतीय संविधान में पुलिस को विशेष अधिकार प्राप्त है। पुलिस सुरक्षा बलों का एक आंतरिक पार्ट है जो देश के नागरिकों की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार होता है।

दुनिया के हर देश में पुलिस होती है, जिन्हें वहां के नागरिकों की सुरक्षा के लिए विशेष रूप से तैयार किया जाता है, किसी भी देश में आंतरिक सुरक्षा के लिए पुलिस फोर्स का निर्माण किया गया है।

पुलिस अफसर के प्रकार ?

भारत में police kaise bane जानने से पहले आपकों पुलिस अफसर के प्रकार के बारे में जानकारी होना आवश्यक है, जो इस प्रकार है:

Private Investigator

प्राइवेट इन्वेस्टिगेटर मुख्य रूप से प्राइवेट जासूस के रूप में जाने जाते हैं। यह किसी व्यक्ति या संगठन के लिए विभिन्न प्रकार के मामलों के बारे में Information search करने और personal, legal and financial information search करने के लिए काम करते हैं।

Crime Scene Investigator

एक crime scene investigator (CSI) किसी क्षेत्र विशेष से संबंधित, Crime Scene से सभी महत्वपूर्ण proof निकालने का काम करते हैं। CSI राज्य या Federal Law Enforcement द्वारा नियुक्त होते हैं।

Law Enforcement Instructors

लॉ एनफोर्समेंट इंस्ट्रक्टर्स आमतौर पर पुराने या करंट Law Enforcement officers होते हैं। वे law enforcement workers की भर्ती के लिए शुरूआती ट्रेनिंग प्रदान करते हैं।

Superintendent of Police (SP)

SP सभी भारतीय नॉन-मेट्रोपोलिटन जिलों के डिस्ट्रिक्ट हेड्स होते हैं। उन्हें एक डिस्ट्रिक्ट के ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों का in-charge नियुक्त किया जाता है।

Deputy Superintendent of Police (DSP)

डिप्टी सुपरिंटेंटडेंट ऑफ़ पुलिस राज्य के पुलिस अफसर होते हैं। यह Provincial Police Force से संबंधित होते हैं।

Local Police Force

लोकल पुलिस फाॅर्स में देश, म्युनिसिपल, रीजनल, और ट्राइबल पुलिस शामिल हैं, जिन्हें सीधे स्थानीय सरकार के द्वारा नियुक्त किया जाता है। इन्हें अधिकार क्षेत्र के कानूनों को बनाए रखने, गश्त (पेट्रोलिंग) करने और लोकल क्राइम की जांच करने की जिम्मेदारी होती है।

Police कैसे बने ?

जैसा कि हम आपको ऊपर Police के प्रकार में बता चुके हैं, Police के अंतर्गत कई प्रकार के post आते हैं, आप दो तरीके से बन सकते हैं –

Read This Also;

CEO Full Form

LPG Full Form

12वीं के बाद Police Kaise Bane?

अगर आप अपनी 12वीं की पढ़ाई complete करने के बाद पुलिस अफसर बनना चाहते हैं तो आप निम्न तरीके से बन सकते हैं –

UG Preparation: यूजी डिग्री में, यदि छात्र Law Enforcement में रुचि रखते हैं, तो उन्हें Psychology, Science और Mathematics जैसे सब्जेक्ट्स की पढ़ाई करनी चाहिए। इसके अलावा उन्हें Physically Fit रहने की भी जरूरत है।

PG Preparation: पीजी डिग्री में छात्र Law Enforcement Degree, Social Science और Law आदि के रूप में Criminal Justice जैसे कोर्सेज को कर सकते हैं।

ग्रेजुएशन के बाद Police Kaise Bane?

अगर आप अपनी Graduation की पढ़ाई complete करने के बाद पुलिस अफसर बनना चाहते हैं तो आप निम्न तरीके से बन सकते हैं –

Graduation की पढ़ाई complete करने के बाद कैंडिडेट के पास पुलिस अफसर बनने के कई विकल्प होते हैं। कैंडिडेट एग्जाम पास करके CID Officer, Sub Inspector, Inspector, DCP, ACP, DSP, SP आदि post प्राप्त करते हैं। इसके लिए सबसे पहले उन्हें written exam quallify करना होता है जिसके बाद उन्हें physical test के लिए बुलाया जाता है, जिसे सफलतापूर्वक पास करने के बाद ही पुलिस अफसर बन सकते हैं।

नोट: Police में कुछ posts पर काम को देखते हुए या फिर internal exam को पास करने पर प्रमोशन मिलती है।

पुलिस अफसर बनने के लिए एग्जाम्स

नीचे पुलिस अफसर बनने के लिए नेशनवाइड एक्साम्स की लिस्ट दी गई है –

  • UPSC CAPF
  • SSC GD Constable Exam
  • State Police Constable Exams
  • SSC CPO Exam
  • UPSC CSE (for IPS)
  • SPSC Exams

Police बनने के लिए योग्यता ?

पुलिस शैक्षिक योग्यता | Police Qualification

Police बनने के लिए उम्मीदवार को किसी भी मान्यता प्राप्त बोर्ड से किसी भी स्ट्रीम में 12th होना चाहिए।

किसी भी मान्यता प्राप्त यूनिवर्सिटी से किसी भी स्ट्रीम में बैचलर डिग्री प्राप्त की हो।

पुलिस आयु सीमा | Police Age Limit

पुलिस अधिकारी बनने के लिए minimum age limit 18 वर्ष है और maximum age limit 25 से 27 वर्ष के बीच हो सकती है।आरक्षित वर्ग के उम्मीदवारों को आयु में कुछ छूट भी दी जाती है।

पुलिस भौतिक मापदण्ड | Police Physical Criteria

Police बनने के लिए उम्मीदवार को शारीरिक और मानसिक रूप से योग्य / फिट होना चाहिए। Police बनने के लिए पुरुष उम्मीदवर की लम्बाई 165 cm और छाती 85 cm निर्धारित की गई है। वही महिला उम्मीदवार की लम्बाई 150 cm निर्धारित की गई है।

पुलिस आईसाइट | Police eyesight

कम विज़न वाली आँख के लिए 6/2 या 6/9 distance विज़न और अच्छी विज़न वाली आँख के लिए 6/6 या 6/9 की विज़न।

कम विज़न वाली आँख के लिए J2 और अच्छी विज़न वाली आँख के लिए के लिए J1 नियर विज़न।

पुलिस अफसर बनने के बाद मिलने वाली पोस्ट की सैलरी

डायरेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस2,25,000
इंस्पेक्टर जनरल ऑफ़ पुलिस1,44,200
सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस/ डिप्टी सुपरिंटेंडेंट ऑफ़ पुलिस1,20,000/94,202
अस्सिटेंट कमिश्नर ऑफ़ पुलिस / डिप्टी कमिश्नर ऑफ़ पुलिस86,006/65,477
इंस्पेक्टर50,449
सब इंस्पेक्टर43,460

पुलिस क्या कार्य करती है? | Police के कार्य

यातायात नियंत्रण यातायात पुलिस सड़कों पर ट्रैफिक लगना, सड़क दुर्घटना यातायात नियम का पालन न करना, रेड लाइट को तोड़ना आदि पर कार्यवाही करती है। इन पुलिस कर्मियों के द्वारा यातायात नियंत्रण किया जाता है।

अपराधों का विवेचना पुलिस के द्वारा अपराध करने वाले व्यक्तियो को पकड़कर जेल में बंद करने की सजा देना ताकि अपराध ना हो।

अपराध करने वाले व्यक्ति की जाँच और गिरफ़्तारी पुलिस के द्वारा किसी भी व्यक्ति की जाँच करने के बाद अपराधी पाए जाने पर पुलिस उस अपराधी को गिरफ्तार कर सकती है और उसे दण्डित करके जेल का सजा भी दे सकती है।

शांति व्यवस्था शहर कस्बो और गांवों में सार्वजानिक शांति व्यवस्था बनाये रखने की जिम्मेदारी पुलिस की होती है। किन्ही दो पक्षों के बीच लड़ाई झगड़े न हो पाए या दो गुट भिड़ जाने पर या किसी अन्य प्रकार के मामलो को सुलझाना भी पुलिस कर्मियों का कार्य होता है।

कानून लागु करना सरकार के द्वारा बनाये गए कानून को शांति पूर्वक लागू करना और उस कानून का पालन सभी व्यक्तियों से करवाना भी पुलिस का कार्य है। पुलिसकानून का पालन न करने पर व्यक्तियो को गिरफ्तार भी कर सकती है और उनके खिलाफ मुकदमा भी कर सकती है।

नागरिको को सुरक्षा प्रदान करना क्षेत्र जनपद में रहने वाले सभी व्यक्ति की सुरक्षा करना किसी व्यक्ति द्वारा जबरन करने पर उसे बचाना या किसी पैसे वाले व्यक्ति के द्वारा सीनाजोरी करने पर पुलिस उन इंसानों की हिफाजत करती है। इस प्रकार के मामलो के लिए आप पुलिस स्टेशन में एफआईआर भी कर सकते है।

महत्वपूर्ण व्यक्ति की सुरक्षा किसी राजनितिक व्यक्ति, फिल्म स्टार, बिज़नेस मैन, बड़े अधिकारी या किसी अन्य महत्वपूर्ण व्यक्ति की सुरक्षा पुलिस करती है। पुलिस इन व्यक्तियो की किसी प्रकार की हानि नहीं होने देती है।

अपराधी घोषित करने के बाद अदालत को सौपना यदि किसी व्यक्ति को पुलिस के जाँच के द्वारा अपराधी घोषित कर दिया जाता है या व्यक्ति के ऊपर अपराध करने का मामला सत्य पाया जाता है तो पुलिस उस व्यक्ति को अदालत को सौप देती है। अदालत के फैसले के अनुसार ही व्यक्ति को सजा दी जाती है।

पुलिस से अक्सर पूछे जाने वाले सवाल | Police FAQs

Police Kon Hota Hai?

पुलिस कर्मियों का एक समूह है। पुलिस एक वर्दीधारी व्यक्ति होता है, जो कानून और व्यवस्था को बनाए रखने के लिए जिम्मेदार होता है, ताकि देश के नागरिकों के हितों की रक्षा की जा सके और दोषियों को दंडित किया जा सके। पुलिस का काम जनता की सुरक्षा एवं उनकी सेवा करना होता है।

Indian Police खाकी क्यों पहनती है?

Indian Police की खाकी वर्दी उनकी एक प्रमुख पहचान होती है। हर देश की पुलिस की वर्दी का अपना रंग होता है। ऐसे में भारतीय पुलिस के वर्दी का रंग खाकी है।

पुलिस में कौन कौन से पद होते हैं?

भारत के एक पुलिस स्टेशन में पुलिस के कई सारे पद होते हैं। इसमें कांस्टेबल, हेड कांस्टेबल, एक सब-इंस्पेक्टर और एक इंस्पेक्टर होते हैं। जिसमे की Police Inspector उच्च कमान अधिकारी होता है, Inspector का पद Sub Inspector के पद से ऊपर होता है और DSP से निचे होता है। 

भारतीय पुलिस में उच्चतम पद क्या है?

भारतीय पुलिस में उच्चतम पद DGP (पुलिस महानिदेशक) होता है। यह भारतीय राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सर्वोच्च रैंकिंग वाला पुलिस अधिकारी है। भारत में, पुलिस महानिदेशक (DGP) एक तीन-सितारा रैंक है।

पुलिस का क्या कार्य होता है Class 6

पुलिस का कार्य है कि वह अपने क्षेत्र में हुई चोरी, दुर्घटना, मारपीट और झगड़े आदि की शिकायत दर्ज करके, लोगों से घटना के विषय में पूछताछ करे, जाँच-पड़ताल करें और मामलों पर कार्यवाही करे।

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों, आज के आर्टिकल में हमने आपको Police full form in Hindi (Public Officer for legal investigations and criminal emergencies) के बारे में सम्पूर्ण ज्ञान दिया है। जिसमें हमने Police का फुल फॉर्म क्या है?, Police kaise bane?, Police qualification, Police age limit, Police के कार्य, Police ki Salary आदि के बारे में सम्पूर्ण जानकारी दी है।

यदि अभी भी आपके मन में Police full form in Hindi (Public Officer for legal investigations and criminal emergencies) से संबंधित कोई सवाल या सुझाव है तो आप हमें कमेंट में बता सकते हैं। हम आपके समस्याओं का समाधान करने की पुरी कोशिश करेंगे। धन्यवाद||

Leave a Comment